Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi with Images


Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi - Majrooh Sultanpuri one of the Best Bollywood  Songwriter of 20th century उनके लिखे गाने आज भी हमारे दिल को सकूँ देते यहाँ हर तरफ म्यूजिक के नाम पर हमें बस शोर सुनाई देता है।

नमस्कार फ्रेंड्स क्या आप 50s और 60s के पुराने गाने सुन्ने के शोकिन हैं आज के आर्टिकल में हम बात करने जा रहे हैं 

पॉपुलर  गीतकार मजरूह सुल्तानपुरी के बारे में जिनके लिखे गाने आज भी हमारे दिल को छू जाते हैं और हमें पुरानी यादों में ले जाते हैं ।

चलिये उनके जीवन के बारे कुछ बातें जान लेते हैं उसके बाद हम आपके साथ उनकी लिखी कुछ पॉपुलर शायरी इन हिंदी एंड उर्दू शेयर करेंगे । 

मजरूह सुल्तानपुरी जी का जन्म 1 अक्टूबर 1919 में हुआ उनका असली नाम असरार उल हसन खान है पर आप उनको मजरूह सुल्तानपुरी के नाम से ही जानते हो क्यों के इसी नाम से वो एक सोंग्व्रतर के तोर पर फेमस हुए ।

उन्होंने १९५० और १९६० के दशक में बॉलीवुड सिनेमा को एक तरह से dominate किया उनके लिखे लगभग सभी गाने हिट हुआ करते थे लोगों को उनके गाने बहुत जी ज्यादा पसंद एते थे ।


मजरूह सुल्तानपुरी जी को बीसवीं सदी के one of the best Songwriters में एक कहा जा सकता है ।


उनका करियर 6 दशकों तक चला उन्होंने बहुत सारे म्यूजिक डायरेक्टर्स के साथ काम किया पर उनका ज्यादा काम आनन्द मिलिन्द के साथ ही रहा दोनों ने मिलकर बहुत सारी हिट फिल्मों में म्यूजिक दिया जो के बहुत ज्यादा लोगों के द्वारा पसंद भी किआ किआ गया मजरूह सुल्तानपुरी और अनाद मिलिन्द की कुछ टॉप फिल्म्स इस प्रकार हैं जो के बहुत ही ज़्यादा हिट हुई । 
  • Qayamat Se Qayamat Tak
  •  Lal Dupatta Malmal Ka
  • Love 
  • Kurbaan 
  • Dahek

आनंद मिलिन्द के इलावा मजरूह सुल्तानपुरी जी ने जतिन ललित के साथ बहुत सरे हिट सांग्स दिए जैसे के जो जीता वही सिकंदर टाइटल सांग  इसी फिल्म का सुपरहिट सांग पहला नशा , यारा दिलदारा और बिन तेरे सनम जैसे हिट सांग्स शामिल हैं । 

मजरूह सुल्तानपुरी ५० के दशक से पॉपुलर होने लगे थे उनको एक बहुत ही टैलेंट Songwriter ग़ज़ल राइटर और शायर माना जाता है उन्होंने बहुत ही अच्छे अच्छे सांग्स लिखे और लोगो ने पसंद भी किआ पर फिर भी उनको सिर्फ एक ही बार Filmfare Best Lyricist Award से सम्मानित किआ गया है जब के उन्होंने बहुत ही अचे और दिल को छू जाने वाले सांग्स लिखे हैं उनको ये Filmfare Best Lyricist Award song "चाहूँगा मैं तुझे सांझ सवेरे" फिल्म  दोस्ती के लिए दिया गया । 

मजरूह सुल्तानपुरी जी पहले ऐसे राइटर हैं जिनको के १९९३ में इंडियन सिनेमा के सबसे बड़े अवार्ड दादासाहेब फाल्के से नवाज़ा गया उनकी कुछ बहुत ही पसंद की जाने वाली फ़िल्म्स जिनमें उन्होंने Songwriter के तोर गीत लिखे इस प्रकार हैं 
  • Tumsa Nahin Dekha (1957)
  • Dil Deke Dekho
  • Phir Wohi Dil Laya Hoon
  • Teesri Manzil (1966)[1]
  • Baharon Ke Sapne
  • Pyar Ka Mausam
  • Caravan (includes the song Piya Tu Ab To Aaja)
  • Yaadon Ki Baraat (1973)
  • Hum Kisise Kum Naheen (1977)[1]
  • Zamane Ko Dikhana Hai
  • Qayamat Se Qayamat Tak (1988)
  • Jo Jeeta Wohi Sikander (1992)
  • Akele Hum Akele Tum
  • Kabhi Haan Kabhi Naa

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi with Images


Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi
Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi






Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi

Conclusion : उम्मीद है फ्रेंड्स आपको हमारा ये आर्टिकल Majrooh Sultanpuri Shayari in Hindi with Images आपको पसंद आया होगा प्लीज हमें कमेंट कर के जरूर बताये thanks for reading


Post a comment

0 Comments