Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi


30+ Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi 

हेलो फ्रेंड्स क्या आप सर्च कर रहे हैं बेहतरीन वसीम बरेलवी की शायरी इन हिंदी गूगल पर तो आप बिलकुल सही वेबसाइट पर हैं  ।

वासीम बरेलवी की शायरी इन हिंदी  की पोस्ट में हम शेयर करेंगे ।

  • waseem barelvi ghazal in hindi
  • waseem barelvi poetry books 
  • waseem barelvi shayari in hindi love
  • wasim barelvi ki shayari in hindi
  • wasim barelvi on dosti

आज हम आपके साथ शेयर करेंगे उर्दू और हिंदी के पॉपुलर शायर वसीम बरेलवी की कुछ बहुत ही अछि शायरी जो आपके दिल को छो जायेगी इस से पहले भी हम आपको उर्दू और हिंदी के टॉप शायर के बारे बता चुके हैं जैसे के मिर्ज़ा ग़ालिब, गुलजार, फैज़ अहमद फ़ैज़, जावेद अख्तर मजरूह सुल्तानपुरी और वसीम बरेलवी जी आगे भी हम आपको ऐसे ही पॉपुलर लेखकों के बारे में जानकारी देते रहेंगे।


वासीम बरेलवी जी का जन्म फरबरी १९४० को बरेळी, उत्तर प्रदेश में हुआ वासीम बरेलवी तो उनका एक कवी के रूप में नाम है पर उनका असली नाम ज़ाहिद हुसैन है उनके पिता जी का नाम शहीद हसन नसीम है ।

वासीम जी की ग़ज़ल और शायरी को बहुत सारे सिंगर्स ने अपनी आवाज़ से अमर बना दिया है खास कर के जगजीत सिंह जी उनकी ग़ज़लों को गाया करते थे ।


 उनकी शायरी ऐसी थी जो आपके दिल को लग जाये वो बहुत ही अच्छा लिखते थे बड़ी से बड़ी गेहराई की बात को अपनी ग़ज़ल और शायरी में बड़ी आसानी से कह जाते थे ।


वसीम बरेलवी जी ने उर्दू ग़ज़ल को एक नए मुकाम तक पुह्चाया उनकी लिखी ग़ज़लें बहुत ज़्यादा पसंद की जाती हैं आज हम आपको उनकी कुछ ग़ज़ल्स , हिंदी शायरी और उर्दू के बहुत ही पॉपुलर अंश इमेजेज के दौरा आपके शेयर करेंगे । 

Waseem Barelvi Ki Shayari in Hindi
Waseem Barelvi Ki Shayari in Hindi 


मेरे होंठों पे अपनी प्यास रख दो और फिर सोचो?
कि इसके बाद भी दुनिया में कुछ पाना ज़रूरी है.




Waseem barelvi shayari
Waseem barelvi shayari


छोटी-छोटी बातें करके बड़े कहाँ हो जाओगे
पतली गलियों से निकलो तो खुली सड़क पर आओगे


Waseem barelvi rekhta
Waseem barelvi rekhta


तुम्हारा प्यार तो सांसों में सांस लेता है
जो होता नशा तो इक दिन उतर नहीं जाता

Waseem barelvi shayari in hindi
Waseem barelvi shayari in hindi



अपनी इस आदत पे ही इक रोज़ मारे जाएँगे,
कोई दर खोले न खोले हम पुकारे जाएँगे.


Waseem barelvi sher
Waseem barelvi sher


मोहब्बत के घरों के कच्चे-पन को ये कहाँ समझें
इन आँखों को तो बस आता है बरसातें बड़ी करना


Wasim barelvi ki shayari in hindi
Wasim barelvi ki shayari in hindi


तेरी नफरतों को प्यार की खुशबु बना देता,
मेरे बस में अगर होता तुझे उर्दू सीखा देता

Love shayari rekhta
Love shayari rekhta


धूप के एक ही मौसम ने जिन्हें तोड़ दिया,
इतने नाज़ुक भी ये रिश्ते न बनाये होते



Wasim barelvi sher
Wasim barelvi sher



कुछ तो कर आदाबे-महफ़िल का लिहाज़.
यार, ये पहलू बदलना छोड़ दे


Waseem barelvi poetry
Waseem barelvi poetry



खुद को मनवाने का मुझको भी हुनर आता है
मैं वह कतरा हूं समंदर मेरे घर आता है


Waseem barelvi best shayari
Waseem barelvi best shayari


क्या दुख है समन्दर को बता भी नहीं सकता
आंसू की तरह आँख तक आ भी नहीं सकता.
तू छोड़ रहा है तो ख़ता इसमें तेरी क्या
हर शख्स मेरा साथ निभा भी नहीं सकता


Waseem barelvi best shayari
Waseem barelvi best shayari


यह सोच कर कोई अहदे-वफ़ा करो हमसे,
हम एक वादे पे उम्रें गुज़ार देते हैं


Waseem barelvi best shayari
Waseem barelvi best shayari



ज़रा सा क़तरा कहीं आज अगर उभरता है
समुंदरों ही के लहजे में बात करता है


waseem barelvi sher in hindi
waseem barelvi sher in hindi



दुख अपना अगर हम को बताना नहीं आता,
तुम को भी तो अंदाज़ा लगाना नहीं आता


Waseem barelvi shayari
Waseem barelvi shayari


आसमाँ इतनी बुलंदी पे जो इतराता है,
भूल जाता है ज़मीं से ही नज़र आता है



waseem barelvi sher in hindi
waseem barelvi sher in hindi



न पाने से किसी के है न कुछ खोने से मतलब है
ये दुनिया है,, इसे तो कुछ न कुछ होने से मतलब है



waseem barelvi sher
waseem barelvi sher 


वो झूट बोल रहा था बड़े सलीक़े से,
मैं ए'तिबार न करता तो और क्या करता



Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi
Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi 



रात के टुकड़ों पे पलना छोड़ दे,
शमा से कहना के जलना छोड़ दे


Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi
Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi 


बहुत से ख़्वाब देखोगे तो आँखें,
तुम्हारा साथ देना छोड़ देंगी


Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi
Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi 


मुसलसल हादसों से बस मुझे इतनी शिकायत है,
कि ये आँसू बहाने की भी तो मोहलत नहीं देते



Waseem barelvi rekhta
Waseem barelvi rekhta



इन्हें तो ख़ाक में मिलना ही था कि मेरे थे,
ये अश्क कौन से ऊँचे घराने वाले थे



Waseem barelvi sher
Waseem barelvi sher


हँसी जब आये, किसी बात पर ही आती है,
उदास होने का अक्सर सबब नहीं होता


Wasim barelvi ki shayari in hindi
Wasim barelvi ki shayari in hindi



अपने चेहरे से जो ज़ाहिर है छुपाएँ कैसे?
तेरी मर्ज़ी के मुताबिक़ नज़र आएँ कैसे?



Wasim barelvi sher
Wasim barelvi sher


ग़म और होता सुन के गर आते न वो 'वसीम'
अच्छा है मेरे हाल की उन को ख़बर नहीं


Waseem barelvi poetry
Waseem barelvi poetry


कुछ है कि जो घर दे नहीं पाता है किसी को,
वर्ना कोई ऐसे तो सफ़र में नहीं रहता


Waseem barelvi best shayari
Waseem barelvi best shayari


शाम तक सुबह की नज़रों से उतर जाते हैं,
इतने समझौतों पे जीते हैं कि, मर जाते हैं


Waseem barelvi best shayari
Waseem barelvi best shayari


तलब की राह में पाने से पहले खोना पड़ता है,
बड़े सौदे नज़र में हो तो, छोटा होना पड़ता है



Waseem barelvi best shayari
Waseem barelvi best shayari


दूरी हुई ,तो उनसे करीब और हम हुए
ये कैसे फ़ासिले थे ,जो बढ़ने से कम हुए



Waseem barelvi shayari images in hindi
Waseem barelvi shayari images in hindi


तुम आ गए हो तो कुछ चाँदनी सी बातें हों,
ज़मीं पे चाँद कहाँ रोज़ रोज़ उतरता है


Wasim barelvi shayari
Wasim barelvi shayari


कौन सी बात कहाँ कैसे कही जाती है,
ये सलीक़ा हो तो, हर बात सुनी जाती है


Waseem barelvi shayari in hindi
Waseem barelvi shayari in hindi


सभी रिश्ते गुलाबों की तरह ख़ुशबू नहीं देते
कुछ ऐसे भी तो होते हैं जो काँटे छोड़ जाते हैं


Waseem barelvi shayari in hindi
Waseem barelvi shayari in hindi


ग़रीब लहरों पे पहरे बिठाये जाते हैं
समन्दरों की तलाशी कोई नहीं लेता


waseem barelvi sher
waseem barelvi sher


उसी को जीने का हक़ है जो इस ज़माने में,
इधर का लगता रहे और उधर का हो जाए


waseem barelvi sher
waseem barelvi sher


तुझे पाने की कोशिश में कुछ इतना खो चुका हूँ मैं.
कि तू मिल भी अगर जाए तो, अब मिलने का ग़म होगा


waseem barelvi sher
waseem barelvi sher



मुझे पढ़ता कोई तो कैसे पढ़ता
मिरे चेहरे पे तुम लिक्खे हुए थे


Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi
Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi 


तुम्हारी राह में मिट्टी के घर नहीं आते
इसीलिए तो तुम्हें हम नज़र नहीं आते


Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi
Best Waseem Barelvi Shayari in Hindi 


अपने हर इक लफ़्ज़ का ख़ुद आईना हो जाऊँगा
उसको छोटा कह के मैं कैसे बड़ा हो जाऊँगा



waseem barelvi sher
waseem barelvi sher


किसी से कोई भी उम्मीद रखना छोड़ कर देखो
तो ये रिश्ते निभाना किस क़दर आसान हो जाये



Waseem Barelvi poetry books

वसीम बरेलवी जी ने बहुत सारी बुक्स भी लिखी जिनको लोगों ने बहुत ज़्यादा पसंद किया उनकी बुक्स लव शायरी ,सैड शायरी और ग़ज़ल्स पर आधारित हैं चलिये उनकी लिखी बुक्स की लिस्ट देख लेते हैं  .
  • Tabassum-e-Gham (Urdu) (1966)[12]
  • Aansu Mere Daman Tera (Hindi) (1990)
  • Mizaj (Urdu) (1990)
  • Aankh Aansu Hui (Urdu) (2000)
  • Mera kya (Hindi) (2000)
  • Aankhon Aankhon Rahe (Urdu) (2007)
  • Mera kya (Urdu) (2007)
  • Mausam Andar Bahar Ke (Urdu) (2007)
  • Charagh (Devnagri) (2016)


वसीम बरेलवी जी को उनकी हिंदी उर्दू शायरी के लिए बहुत सारे अवार्ड्स से भी नवाज़ा गया है जिनकी जिनकी लिस्ट इस प्रकार है। 
  • Firaq Gorakhpuri International Award
  • Kalidas gold medal (by the Haryana government
  • Begum Akhtar Kala Dharmi award
  • Naseem-e-Urdu award



Conclusion : उम्मीद है की आपको आज की पोस्ट  वासीम बरेलवी शायरी आप को पसंद आई होगी अपने विचार आप कमैंट्स के जरिये हम तक भेज सकते हैं आगे भी हम आपको और भी बहुत से पॉपुलर लेखकों की शायरी से रुबरु करवाते रहेंगे  Thanks for Reading.

Post a comment

0 Comments